मैनु पौणाहारी दा दीदार हो गया

जावा बारे नाथ दे मंदिर तो मैनु सच दिखाया अंदर तो,
मेरे जोगी नाथ दे लड़ लग के सत जन्मा दा उधार हो गया,
मैनु पौणाहारी दा दीदार हो गया भव सगरा तो वेहड़ा पार हो गया,


केहड़े जन्मा दा किता पूण मोहरे आ गया,
जेहड़ा मैनु योगी नाथ दर्श दिखा गया,
जन्म तो कोले वांग तप दा कलेजा,
तेरे दर्श दे नाम ठंडा ठार हो गया,
मैनु पौणाहारी दा दीदार हो गया भव सगरा तो वेहड़ा पार हो गया,

डोलन न दिता बड़े दुःख ते कलेश सी,
भरम भुला के तेरा मन्या आदेश सी,
कट के चौरासी दुखड़े मुका गया,
दुखा वाला दाना तार तार हो गया,
मैनु पौणाहारी दा दीदार हो गया भव सगरा तो वेहड़ा पार हो गया,

भगता प्यारेया नु जोगी नाथ तार दा,
हर वेले मान पौणाहारी नु पुकार दा,
सिद्ध योगी मैनु चरना नाल ला लिया,
योगी मेरी रूह दा हक दार हो गया,
मैनु पौणाहारी दा दीदार हो गया भव सगरा तो वेहड़ा पार हो गया,
download bhajan lyrics (79 downloads)