पौणाहारी जड़ो दा दयाल हो गयाा

पौणाहारी जड़ो दा दयाल हो गया,
कंगाल सी मैं लोको माला माल हो गया,
गुफा वाला जोगियां मेहरबान हो गया,
ढोल दा वेहड़ा मेरा पार हो गया,

धुएं वांगु सी मैं का का बोल्दा,
अमृत छड़ कनि की फरोलदा,
हूँ ते मेरा हंसा वाला हाल हो गया,
कंगाल सी मैं लोको माला माल हो गया,
पौणाहारी जड़ो दा दयाल हो गया,

दुनिया दा ना मैं ऐब छड्या,
कण्डेया चो बाबा जी ने आप कडया,
आखदे ने लोकि एह कमाल हो गया,
पौणाहारी जड़ो दा दयाल हो गया,

रोट परशाद मैं चढ़ावा जोगी दे,
लख लख शूकर मनावा जोगी दे,
सोहनी पटी वाले नु दीदार हो गया,
पौणाहारी जड़ो दा दयाल हो गया,
download bhajan lyrics (41 downloads)