महाकाली महाकाली ओ मैया कलकत्ते वाली

महाकाली महाकाली
ओ मैया कलकत्ते वाली भर दे झोली खाली,
महाकाली महाकाली

शुम्ब निशुंभ को मार गिरया माँ भक्तो का मान बढ़ाया,
चंड मुंड को मार के मैया जग से पाप का किया सफाया,
तू ही तू जग रखवाली भर दे झोली खाली,
महाकाली महाकाली...

हाथ में तेरे खपर दाती गल में तेरी रुण्ड की माला,
थर थर कांपे जो भी देखे माँ ये तेरा रूप निराला,
आँखों से बह के है लाली भर दे झोली खाली,
महाकाली महाकाली.....

ओ जगजानी ओ महामाया तेरा अंत किसे ने ना पाया,
हां हां कार मची जब सारे शिव शंकर ने शीश झुक्या,
धीरा भी तेरा है सवाली भर दे झोली खाली,
महाकाली महाकाली
download bhajan lyrics (127 downloads)