म्हारी भंवरावाली मईया म्हारे मन बसगी

म्हारी भंवरावाली मईया म्हारे मन बसगी,
नवराते में आवां मईया म्हारे जचगी |

गोरिया में मईया थारो मंदिर विशाल है,
काणा में तो कुंडल सोवे,माथे बिंदिया लाल है,
नाक में या नथ थारी म्हारे जचगी,
नवराते में आवां मईया म्हारे जचगी |

रोली-मोली काजल म्हारी मईया के चढावांगा,
जीण माँ के मन्दिरिये में धौंक लगावांगा
रोम रोम में मईया म्हारे मन बसगी,
नवराते में आवां मईया म्हारे जचगी |

लाल सुरंगी चुनड मईया,बीच तारा रो जाल है,
हांथां में है बाजूबंद,कब्जो सोहे लाल है,
जीण जयंती माता म्हारे मन बसगी,
नवराते में आवां मईया म्हारे जचगी |

भंवरावाली मईया म्हे तो गुण थारा गावांगा,
लेकर के निशान मईया मंदिर थारे आवांगा,
महावीर गुण गावे मईया मन बसगी,
नवराते में आवां मईया म्हारे जचगी |

म्हारी भंवरावाली मईया म्हारे मन बसगी,
नवराते में आवां मईया म्हारे जचगी |

भजन गायक - सौरभ मधुकर
संपर्क - 9831258090
download bhajan lyrics (397 downloads)