असि उड़ दे आसरे तेरे

असि उड़ दे आसरे तेरे,
गुफा दे विच रेहन वालेया,
लागियां रोनका साढ़े वेहड़े,
असि उड़ दे आसरे तेरे,
योगी शाहतलाइया वालेया,

कोठियां भी द्वितीया तू कारा भी द्वितीया ,
झूठ न मैं बोला गलना करदा है सचियाँ,
लाईये बाहरले देशा दे विच गेडे,
गुफा दे विच रेहन वालेया...

तेरी किरपा दे नाल काम साढ़े चलदे,
बनगे करोडा पति जेहड़े तनु मंदे,
हाथ रखी सदा सिर उते मरे,
गुफा दे विच रेहन वालेया,....

हर साल जोगी तेरा लंगर लगाउने आ,
रोट प्रशाद लेके गुफा उते आउने आ,
सोनी कहंदा करि सूखा दे सवेरे,
गुफा दे विच रेहन वालेया,
download bhajan lyrics (673 downloads)