राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे

राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे,
पल पल ज़िंदगानी रोज घटे तेरी ये ज़िंदगानी रोज घटे,
राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे,

बीता बचपन आई जवानी कर लागया बंदे मन मानी,
ना मोह माया से दूर हटे,
पल पल ज़िंदगानी रोज घटे तेरी ये ज़िंदगानी रोज घटे,
राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे,

राधे नाम बड़ा सुख दाई इस से रिजे कृष्ण कन्हाई,
दुनिया का आवन गमन मिटे पल पल ज़िंदगानी रोज घटे तेरी ये ज़िंदगानी रोज घटे,
राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे,

राधे राधे नाम लिया कर अमृत रस है पान किया कर,
तेरे सारे दुखड़े मिटे पल पल ज़िंदगानी रोज घटे तेरी ये ज़िंदगानी रोज घटे,
राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे,

जो कोई राधे राधे बोले राधे मुक्ति मार्ग खोले,
भावना देविंदर रोज रटे पल पल ज़िंदगानी रोज घटे तेरी ये ज़िंदगानी रोज घटे,
राधे राधे नाम रटो रे क्यों न राधे नाम रटे,
श्रेणी
download bhajan lyrics (155 downloads)