हे मैया मेरी दुखिया तो रोवे दरबार में

हे मैया मेरी दुखिया तो रोवे दरबार में,
सुन सुन ताने मेरी मुर्जा गई काया,
चरणों में मैया तेरे ध्यान लगाया,
हे मैया मेरी खुशिया तो लय दो घर बार में,
हे मैया मेरी दुखिया तो रोवे दरबार में,

तुझ बिन मैया मेरा कौन सहारा,
नाव भी ढोले ो रे दूर किनारा,
ओ मैया  मेरी नैया तो दुबे मझधार में,
हे मैया मेरी दुखिया तो रोवे दरबार में,

ओ साँस ननद घनी मारे सखोली,
मांगू सु बेटा मैया भरदे ना झोली,
हे मैया मेरी नाव चला दे संसार में,
हे मैया मेरी दुखिया तो रोवे दरबार में,

हो बारम बारम कहे सिरसे वाले,
खोल दे मैया मेरी किस्मत का ताला,
हे मैया मेरी रहता अनिल प्रचार में,
हे मैया मेरी दुखिया तो रोवे दरबार में,