भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे

भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे,
जिह्ना मर्जी तू रूस ले मनाई जावा गये,
भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे,

तेरे गुस्से च भी साहनु यह प्यार लभ दा,
तेरे रूप विच हुँदा है दीदार रब दा तेरे गुस्से न वि प्यार च रलाई जावा गये,
भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे,

ऐसी जान दे हां मावा बस मावा हुन्दियां जिद्दी चुनी हेठा ममता दिन शावा हुन्दियां,
ओह्दी चुनी हेठा खुद न लुकाई जावा गये,
भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे,

धीया पुत्ररा दे तनु किहने माँ कहना है दूर पुत्र दे तनु भी नहीं चैन पीना है,
नाता माँ पूत वाला निभाई जावा गये,
भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे,

तेरी मर्जी है ठोकरा भी मार माये नई ऐसी छड़ के नहीं जाना तेरा द्वार माये नई,
दास तेरे है और तेरे ही कहाई जावा गये,
भुहा खोल या न खोल कुंडा खड़काई जावागे,
download bhajan lyrics (64 downloads)