नागनिया बन के डस गई मोहन तेरी बांसुरिया

नागरिया बन के डस गई मोहन तेरी बांसुरिया,
मेर गई कलेजा चीर मोहन तेरी बांसुरिया,

रिमझिम रिमझिम मेघा बरसे चमकें बिजुरिया,
मैं कैसे आऊं श्याम मेरी तो भींगे चुनरिया,
नागरिया बन के डस गई.............

जमुना जल में भरन जाता है सिर पे गागरिया,
अरे ऐसी मारी काकुल मेरी फोड़ी गागरिया,
नागनिया बन के डस गई.........

सास भी सोये नन्द भी सोये जागें सांवरिया,
अरे मैं कैसे आऊं श्याम मेरी तो बाजे पायलिया,
नागनिया बन के डस गई..........

हम जमुना जल भरन जाता है मिल गये सांवरिया,
वे लेकर चीर क़दम चढ़ बेटे रह गई नागनिया,
नागनिया बन के डस गई मोहन तेरी बांसुरिया..........


शीला रधुवंशी       और भजन के लिए संपर्क
9131750831
श्रेणी
download bhajan lyrics (117 downloads)