तन मन धन सब देना

तन मन धन सब देना ,शाम वे तेनू जान ना देना,

रल मिल सखिया ने मता मताया,  
अपने शाम दा मुल पुवाया
ओ असी दुनिया तो की लेना,  
शाम वे तेनू जान ना देना                                                          

रल मिल सखिया ने पलड़ा मंगवाया,
इक पलड़े विच शाम नू बिठाया ,  
दुजे पलड़े सारा गहना
शाम वे तेनू जान ना देना,

गहना गट्टा मुक गया सारा,
शाम जी दा पलड़ा अजे वी भारा,
भर आये सखिया दे नैनां,
शाम तेनू जान ना देना ,

तुरदे फिरदे नारद आये,
शाम नू देख के मुस्काये,
तू मन सखिया दा कहना,
शाम नू जान ना देना

इक तुनसी दा पत्ता मगवायां,
उसदे उते राधा शाम लिखवाया
पलडा हो गया बराबर,
शाम तेनू ……
श्रेणी
download bhajan lyrics (155 downloads)