बरसाने से आइयो राधा

बरसाने से आइयो राधा केहगी यु गिरधारी से,
सारी सखियाँ साथ में लाना केह गई रास बिहारी से.
बरसाने से आइयो राधा केहगी यु गिरधारी से,

वृंदावन में देखो राधे राधे हो रही से,
ब्रिज की राधा गलिन गलिन में तेरी जय जय हो रही से,
सांवरियां भी तेरा दीवाना बन के राधा ढोले से,
सारी सखियाँ साथ में लाना केह गई रास बिहारी से.
बरसाने से आइयो राधा केहगी यु गिरधारी से,

तेरी प्रीत में खोया कन्हियाँ मुरली का वो बजाईया से,
काहे तू इत्लावे राधा तुझ्से नाता प्यारा से
यमुना के तट पर तुम आना सुन लो श्यामा प्यारी से
सारी सखियाँ साथ में लाना केह गई रास बिहारी से.
बरसाने से आइयो राधा केहगी यु गिरधारी से,

तुम बिन सुना निधिवन राधे सुना यु गिरधारी से,
राह निहारे तुम को पुकारे देखे बाट तुम्हारी से,
करुनामई करुना बरसाओ नागर आस लगावे से
सारी सखियाँ साथ में लाना केह गई रास बिहारी से.
बरसाने से आइयो राधा केहगी यु गिरधारी से,
श्रेणी