तेरी महिमा अपरम्पार

तेरी महिमा अपरम्पार
================
तेरी महिमा, अपरम्पार, हो पार,
वृषभानु दुलारी श्री राधे ll
*हो वृषभानु दुलारी, श्री राधे ll
तुम हो, सच्ची सरकार, सरकार,
वृषभानु दुलारी श्री राधे l
तेरी महिमा, अपरम्पार,,,,,,,,,,,,,

सारे, जग की रखवाली है l
कष्टों को, हरने वाली है ll
तुझे पूजे, यह संसार, संसार,
वृषभानु दुलारी श्री राधे,,,
तेरी महिमा, अपरम्पार,,,,,,,,,,,,,F

दीनन की, सुनने वाली है l
भक्तन की, यह रखवाली है ll
इन चरणों में, सुखधाम, सुखधाम,
वृषभानु दुलारी श्री राधे,,,
तेरी महिमा, अपरम्पार,,,,,,,,,,,,,F

दुनियाँ ने, जब मुझे ठुकराया l
भटका, तब शरण, तेरी आया ll
मेरा कर दो, बेडा पार, हो पार,
वृषभानु दुलारी श्री राधे,,,
तेरी महिमा, अपरम्पार,,,,,,,,,,,,,F

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
श्रेणी
download bhajan lyrics (63 downloads)