जग नु हसान वालिया

जग नु हसान वालिया मैनु हसया बड़ा चिर होया,
तेरे नाल यारी ला के मेरा दिल जी भर के रोया,

जग सारा हसदा ते लोकि ताने मारदे,
जख्मी दिल नु होर लोकि साड दे,
दर्द एह सुनावा किसनू मेरा सारा जग वैरी होया,
जग नु हसान वालिया........

जग रुसदा है श्यामा तू न रूस जावी वे,
दुनिया ने ठुकराया तू भी न ठुकराई वे,
लेखा दे लिखन वालियां केडी गल तो नसीब मेरा सोया,
जग नु हसान वालिया...

किसे नु हसावदा किसे नु रुलामदा,
प्रेमिया दे दुबे बेड़े आप बने लगान दा,
मेरी वारि किथे लुकियाँ तनु लब लब पागल होया,
जग नु हसान वालिया..........
श्रेणी