पी के शंकर जी की बुटी कावड़ियों की चिंता छुटी

पी के शंकर जी की बुटी कावड़ियों की चिंता छुटी,
जिसके सिर भोले का हाथ वो कभी बी न डोले
बम बम भोले बम बम भोले,

मेरा शंकर भोला भाला जिसके गल सर्पो की माला,
जिस ने पी लिया विष का प्याला उसकी महिमा जग बोले,
बम बम भोले बम बम भोले,

मेरा शंकर सब से न्यारा बोलो भोले का जैकारा,
जिसने दिल से इसे पुकारा उसकी बंद किस्मत खोले,
बम बम भोले बम बम भोले,

कावड़ियों पे मस्ती छाई जमके नाचो मेरे भाई,
भोले बाबा का डंका तो सारी दुनिया में बोले
बम बम भोले बम बम भोले,
श्रेणी
download bhajan lyrics (146 downloads)