नही मिलदा सोहना सावल यार सब नु नही मिलदा

नही मिलदा सोहना सावल यार सब नु नही मिलदा,
मेरा बांके बिहारी लाल सब नु नही मिलदा,
मेरा राधा भलव लाल सब नु नही मिलदा,
कर्मा वाले ही करदे ने ठाकुर दा दीदार सब नु नही मिलदा,

वे मौते ही मरना पेंदा शीश तली ते धरके,
अपने हथी करना पेंदा अपने उते वार,
सब नु नही मिलदा,
नही मिलदा सोहना सावल यार सब नु नही मिलदा

मीरा वंगु जीना पेंदा ज़हर प्याला पी के,
गल विच नाग भी पाने पेंदे जान फुला दे हार
सब नु नही मिलदा,
नही मिलदा सोहना सावल यार सब नु नही मिलदा

धने दी भगति दे सदके ठाकुर दे हाथ बने,
अर्श विचो चल के आया जग दा पालनहार,
सब नु नही मिलदा,
नही मिलदा सोहना सावल यार सब नु नही मिलदा

शांत जे ठाकुर न मिलान आई चुस्त चलाकी छड़दे,
मनो हटके मैं ता पर्दा अंदर चाती मार,
सब नु नही मिलदा,
नही मिलदा सोहना सावल यार सब नु नही मिलदा
download bhajan lyrics (38 downloads)