भोली भाली राधा चतुर गोपाल

भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल
भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल …

राधा रानी गोरी साँवरो गोपाल
दीनन के तुम दीं दयाल
भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल

बंशी वाट पर रास रचाई
गोपियाँ को तुम कियो निहाल
भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल …

बरसाने में होली मानावे
वृन्दावन में रास रचा
भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल …

मथुरा में तुम देवकीनंदन
गोकुल में तुम यशोदा लाल
भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल …

हम दीनन पर किरपा कीजे
अपने वृद्ध निभाओ नन्द लाल
भोली भाली राधा चतुर गोपाल
दोनों भक्तन के प्रतिपाल …
download bhajan lyrics (75 downloads)