मेरो छोटो-छोटो ठाकुर वा की छोटी छोटी अखियां

                                 
                      शयन आरती  
       
मेरो छोटो छोटो ठाकुर वा की छोटी छोटी अखियां
  वा की नन्ही नन्ही अखियों मे तु समा जा प्यारी
   निंदिया
  ओ मेरो.....
1.छोटो सो है ठाकुर मेरो,दो नैना कजरारे
  बांकी अल्कन तिरछी चितवन,जो देखें मन हारे
  वाकी बांकी चितवन को,चुरा जा प्यारी प्यारी
  निंदिया
  ओ मेरो....
2.ठाकुर मेरो भोलो भालो,करे रसीली बतियां
  मधुरी मधुरी वाणी सुन कर,शीतल होंवे सखियां
  वाकी मधुरी मधुरी वाणी में तुं,समा जा प्यारी
  निंदिया
 ओ मेरो.....
3.मैय्या सुलावे पलना में अब,सोवत नंद गोसंईया
  देत असीस सबै बृजवासिन,ग्वाल बाल और
  गंईया
  वाकी बांकी झांकी चितवन,को चुरा जा प्यारी
  निंदिया
  ओ मेरो....
  वाकी नन्ही नन्ही अंखियों मे तुं,समा जा प्यारी
  निंदिया मेरो छोटो-छोटो ठाकुर,वाकी छोटी-
  छोटी अंखियां
श्रेणी
download bhajan lyrics (34 downloads)