माईये नी मैं मेहंदी हा

माईये नी मैं मेहंदी हा,
कलिया रंगदी रेह्न्दी हा,
कर कमला नु तू वी रंगा लै,
हथ जोड़ के केहनी हा,
माईये नी मैं मेहंदी हा...

चंगी तरह पीस पीस के,
माये नी मैं घिस घिस के,
अपना आप मिटा लया,
सारी ही दुनिया भूल के,
प्यार तेरे नाल पा लया,
सदा सुहागन माईये हुण,
मैं तेरे पैरी पैंदी हा,
माईये नी मैं मेहंदी हा...

बाहरो ते दिसदी हरी भरी माँ,
अंदरो निकली लाल नी माँ,
सोहणेया लाला वालिये मैंनू,
लालै चरणा नाल नी माँ,
मैनु अपने रंग विच रंग लै,
तेरा ही ना लैंदी हा,
माईये नी मैं मेहंदी हा...

चाहे तू मैनु हथा ते धर लै,
चाहे लवा लै पैरा ते,
सबते अपना रंग चढ़ाना,
की अपने की गैरा ते,
अपने नखरे भूल के हुण मैं,
सबदे नखरे सहनी हा,
माईये नी मैं मेहंदी हा....

माईये नी मैं मेहंदी हा,
कलिया रंगदी रहन्दी हा,
कर कमला नु तू वी रंगा लै,
हथ जोड़ के कहन्दी हा,
माईये नी मैं मेहंदी हा,
कलिया रंगदी रहन्दी हा,

download bhajan lyrics (122 downloads)