तेरा केहड़ा मूल लगदा

सोणे मुखड़े दा लैन दे नजारा,
नी तेरा केहड़ा मूल लगदा,
नी तेरा केहड़ा......

मुख तेरा सोणा गुलाब नालो चंगा ए,
नशा तेरी अँखा दा शराब नालो चंगा ए,
ऐना अखियां नू लैन दे नजारा,
नी तेरा केहड़ा......

दोषी जाण के मुख ना मोडी,
इस दासी दी आस ना तोडी,
गल दिल वाली मन दिलदारा,
नी तेरा केहड़ा......

रूप तेरे दी मैं खैर मनावां,
तू तकना ए ते मैं वारी-वारी जावां,
जे तू निक्का जया कर दे इशारा,
नी तेरा केहड़ा......
श्रेणी
download bhajan lyrics (263 downloads)