किने सुनाउ मन री बाता

किन्ने सुनाउ, मनडे री बाता,
हियो  भर  आयो,तने बुलाता बुलाता
किन्ने सुनाउ........

पतित उद्धारण हे नाम तिहारो
बाट उडीके तेरी तो ऑगन गारो
देर क्यू लगाई श्याम,तू भी आता आता
किन्ने सुनाउ........

कई बार दाता,मेरी बिगड़ी सँवारी,
पहल्या ही सिर पर तेरो  कर्जो हे भारी,
कई जनम लागेगा,चुकाता चुकाता
किन्ने सुनाउ.............

इब क़े क़े होग्यो तेरे,देर तू लगाई,
घायल हे मन रो पंछी, कर दे दवाई,
तड़फ रह्यो हे जिवडो, दिन और राता
किन्ने सुनाउ...........

तेरे सिवा दूजो मेरी कुन सुनेगो,
जो भी सुनेगो जग में हांसी ही करैगो
बिन्नू को तू ही हे ,भाग्य विधाता
किन्ने सुनाउ................
download bhajan lyrics (117 downloads)