मैं निर्धन तू सेठ संवारा

मैं निर्धन तू सेठ संवारा के फयादा इस यारी का,
बता कब ताला खोले गा बाबा बंद किस्मत माहरी का,

तेरे से ना मांगूगा तो और बता और कीथ जाओ मैं,
चेतक के का क्या करना ऑडी रेड फरारी चहु मैं,
मैं पैदल खुद मजा लेवे से लीले की असवारी का,
बता कब ताला खोले गा बाबा बंद किस्मत माहरी का,

इतना देदे सांवरियां हो घर में सारी मौज मेरे,
मैं भी जिद का पका हु न माँगन औ रोज तेरे,
सारी दुनिया में से चर्चा तेरी लखदात्री का,
बता कब ताला खोले गा बाबा बंद किस्मत माहरी का,

मांग मांग के थक गया सु ईब शर्म घनी आवे से,
के मज़बूरी मने दें ने इतनी देर लगावे से,
भगत तेरा भी बात देख रहा कद का अपनी वारि का,
बता कब ताला खोले गा बाबा बंद किस्मत माहरी का,

आज पड़ा से पाला सुनले मानु मैं भी हार नहीं,
या कह दे सांवरियां तने भीम सेन से प्यार नहीं,
मैं तेरा तू मेरा से के लेना दुनिया दारी का,
बता कब ताला खोले गा बाबा बंद किस्मत माहरी का,
download bhajan lyrics (114 downloads)