खुल जायेंगी किताबें

खुल जायेंगी किताबें,
जब भी हिसाब होगा,
इंसाफ का तराजू,
येशु के हाथ होगा॥

जो भी तू कर रहा है,
येशु वो देखता है,
हर पल जो तुझको मिलता,
देना हिसाब होगा,
इंसाफ का तराजू,
येशु के हाथ होगा...

आजा अभी भी मुड़कर,
येशु बुला रहा है,
वर्ना ये याद कर ले,
तेरा ही नाश होगा,
इंसाफ का तराजू,
येशु के हाथ होगा....

कदमों में उसके रो ले,
तौबा गुनाह से कर ले,
प्यार मसीह ने दिया,
माफी तू आज ले ले,
इंसाफ का तराजू,
येशु के हाथ होगा.....
श्रेणी
download bhajan lyrics (113 downloads)