मैं मैं छोड़ माँ माँ बोल

मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll
ये नाम, बड़ा अनमोल* xll
मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll

ये मैंने किया, वो मैंने किया,
"क्या तूने किया, माँ जानती है" l
तूँ क्या है तेरी, औक़ात है क्या,
"तेरी रग रग को, पहचानती है" ll
अब भी वक़्त है, संभल जा वर्ना* l
*खुल जाएगी तेरी पोल,,,
मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll
 
रावण भी, मैं मैं करता था,
"दस शीश कटे, वो मारा गया" l
हिरण्य कश्यप को, जांघो पे,
"रख पेट था, उसका फाड़ा गया" ll
जिसने खुद पर, अभिमान किया* l
फिर उसका हो गया बिस्तर गोल,,,
मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll

सम्मान मान, सब माँ का है,
"ये जीवन भी तो, माँ ने दिया" l
अपना तो इसमें, कुछ भी नहीं,
"सब माँ ने दिया, सब माँ ने दिया" ll
साँसों का ये, पंछीं इक दिन* l
उड़ जायेगा तन का पिंजरा खोल,,,
मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll

यह बात, बहुत ही सच्ची है,
"क्यों, तेरी समझ में आती नहीं" l
जिस घर में, माँ की ज्योत जगे,
"वहाँ, बुरी नज़र कभी जाती नहीं" ll
चंचल जो, माँ के बच्चे हैं* l
नहीं होते कभी वो डाँवाडोल,,,
मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll
ये नाम, बड़ा अनमोल* xll
मैं मैं छोड़, माँ माँ बोल xll-ll

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (12 downloads)