मेरे जीवन की नैया को किनारा मिल गया होता

श्याम बाबा मुझे तेरा सहारा मिल गया होता
मेरे जीवन की नैया को किनारा मिल गया होता

सहारा न कोई मेरा जहान में और दूजा है
दयालु नाम है तेरा ये सारी दुनिया केहती है
तेरे चरणों में मुझको भी ठिकाना मिल गया होता
मेरे जीवन की नैया को किनारा मिल गया होता

नाम लेता हु तुझे ही याद करता हु
तेरे भगतो के संग बाबा तेरा गुणगान करता हु
तेरे भगतो में मेरा नाम बाबा लिख दिया होता
मेरे जीवन की नैया को किनारा मिल गया होता

हुई जो बुल जो मुझसे उसे दिल से बुला देना
पवन के साथ फागुन में मुझे खाटू बुला लेना
मुझ हारे को तुझ हारे का सहारा मिल गया होता
मेरे जीवन की नैया को किनारा मिल गया होता
download bhajan lyrics (39 downloads)