जगदीश ज्ञानदाता सुख मूल

जगदीश ज्ञानदाता सुख-मूल, शोक-हारी,
भगवान तुम सदा हो निष्पक्ष न्यायकारी,

सब काल सर्वज्ञाता सविता पिता विधाता,
सबमें रमे हुए हो तुम विश्व के बिहारी,

कर दो बलिष्ठ आत्मा, घबरा न जाएँ दुःख से,
कठिनाइयों का जिससे, तर जाएँ सिंधु भारी,

निश्चित दया करोगे, हम माँगते यही हैं,
हमको मिले स्वयं ही, उठने की शक्ति सारी,

Yogesh Tiwary
download bhajan lyrics (72 downloads)