श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी

श्रीमन नारायण,,, जय जय नारायण,,,
स्वामी नारायण,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी l
जय जय नारायण नारायण हरी हरी l
स्वामी नारायण नारायण हरी हरी l
*तूँ है, सब का मोहन, प्यारे प्यारे, हरी हरी l
तुम देव हो,,, *lll, सबसे न्यारे न्यारे, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी l
जय जय नारायण नारायण हरी हरी l
स्वामी नारायण नारायण हरी हरी l

देवकी नंदन, हे जग वंदन, 'मेरे भाग्य विधाता' l
अपने चरण का, दास बना के, 'मुक्ति दे सुख दाता' l
*जाऊँ, चरणों पे तेरे, वारी वारी, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

श्याम रंग में, रूप तुम्हारा, 'दिव्य सुदर्शन धारी' l
दर्शन से मन, प्रसन्न होता, 'तुम हो दशा अवतारी' l
*कली, खिल गई मन की, सारी सारी, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

तुम सूरज हो, तुम ही चन्द्रमा, 'मेरे किशन कन्हईया' l
नंदन वन में, तुमसा प्यारा, 'कोई नहीं रास रचईया' l
*तेरे, खेल है सारे, न्यारे न्यारे, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

ब्रह्मा जी ने, श्रिष्टी रची, 'तुम बन गए पालनहारी' l
शँकर जी के, भोलेपन की, 'धुरा संभाली सारी' l
*दुःख, हो जाए हमसे, परे परे, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

पारस समझ के, चरण छुए जो, 'वो बन जाए सोना' l
राम तिहारी, छिपा हुआ है, 'सुंदर रूप सलोना' l
*तूने, सब के संकट, हरे हरे, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

हरी नाम से, हार गए सब, 'अविजित अत्याचारी' l
जीत सका न, कोई भी तुमसे, 'असुर अमंगलकारी' l
*तेरे, नाम से भागे दुःख, सारे सारे, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

मन से, जोड़ लिया तुमको, 'न रहा कोई मन में उदासी' l
ना मा मिट गई, काहे सब को, 'सुख शांति अविनाशी' l
*दिल, तेरे ही नाम से, भरे भरे, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

हमने देखा, तो यही लगा, 'तेरे चरणों में है,
मेरी ही जगह, मेरी ही जगह' l
पर मैं, सोचा तो यह जाना, 'बिन तेरे,
यहाँ पर, कोई न सगा, कोई न सगा' l
*तूँ ही, प्रेम की वर्षा, करी करी, हरी हरी,,,
श्रीमन नारायण नारायण हरी हरी,,,,,,,,,,,,,,,F

अपलोडर- अनिलरामूर्तिभोपाल
download bhajan lyrics (76 downloads)