ओ माँ मेरी पत्त रखिओ सदा लाटां वालीए

ओ माँ मेरी पत्त, रखिओ सदा लाटां वालीए
दुखीआ को, पापन को, दे दे सहारा
तेरा मंदिर है न्यारा, मुझे भी दे उजिआरा
मिटे मन का अँधिआरा,
ओ माँ मेरी, ओ माँ मेरी

मोह माया के तोड़ के बंधन,
तेरे द्वारे आ गई जोगण
कोई नहीं ऐ मेरा, तेरे सिवा लाटां वालीए,
कोई नहीं ऐ मेरा,,,,
कोई नहीं ऐ मेरा, तेरे सिवा लाटां वालीए,
मैं दुखिआरी, शरण तिहारी, झोली है ख़ाली
मैं आई बनके सवाली, ओ माता लाटां वाली,
ओ ऊंचे मँदिरा वाली, ओ माँ मेरी पत्त,,,,,,,,,

सूनी सूनी गोद भरे तू,
माता सब के कष्ट हरे तू
कोई नहीं ऐ मेरा, तेरे सिवा लाटां वालीए
कोई नहीं ऐ मेरा,,,,
कोई नहीं ऐ मेरा, तेरे सिवा लाटां वालीए,
पूजा के, श्रद्धा के, जो फूल लाए
वो जो मांगे सो पाए, तूँ विगड़ी बात बनाए,
तूँ सब के भाग जगाए, ओ माँ मेरी पत्त ,,,,,,,,,,,,,

माता तूँ है शक्तिशाली,
जग्ग में तेरी ज्योत निराली
कोई नहीं ऐ मेरा, तेरे सिवा लाटां वालीए
कोई नहीं ऐ मेरा,,,,,
कोई नहीं ऐ मेरा, तेरे सिवा लाटां वालीए,
युग युग से, भक्तों के, दुखड़े निवारे
शहंशाह आए द्वारे,और जैसे अटक नज़ारे,
तेरी शक्ति से हारे, ओ माँ मेरी पत्त ,,,,,,,,,,,

तूँ विगड़ी बात बनाए, तूँ सब के भाग जगाए
ओ माता लाटां वाली, ओ ऊंचे मँदिरा वाली
ओ माता लाटां वाली,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
download bhajan lyrics (528 downloads)