भगत न्योता दिंदे केह्न्दे भंडदी सोगात ऐ

भगत न्योता दिंदे केह्न्दे भंडदी सोगात ऐ
आजो सारे नचिये जगराते वाली रात,

शेरावाली मैया अज कर्म क्माउन्दी
भगता दी झोली विच खैर दाती पौन्दी,
छोटा हो या बड़ा मैया पुछदी न जात ऐ
आजो सारे नचिये जगराते वाली रात,

रल मिल भगता ने भवन सजाया ऐ,
कृष्णा ने बंसी डोरू श्मभु ने बजाया ऐ
स्वर्ग तो होई ऐसी फुला दी बरसात ऐ
आजो सारे नचिये जगराते वाली रात,

लिखदा है बावा तेरा शुकर मनाउंदा ऐ
जिथे भी एह जावे तेरा लाल माँ कहोंदा ऐ
गाउंदा ऐ राजीव नचे सारी काएनात ऐ
आजो सारे नचिये जगराते वाली रात,
download bhajan lyrics (175 downloads)