गुरु जी मेरे शिव अवतारी

मेरे गुरु जी पत रखना सदा बचेया दी
भगता दी संगता दी तूसी जग दे हो वाली
गुरु जी मेरे शिव अवतारी गुरु जी मेरे सच दे पुजारी
गुरु जी मेरे भोले भंडारी
मेरे गुरु जी मेरे गुरु जी

गुरु जी शरण विच आओ भगतो,
चरना च शीश जुकाओ भगतो
गुरु जी किरपा मिलदी नसीबा नाल
सत्संग विच लाओ हाजरी
गुरु जी करदो कल्याण
गुरु जी मेरे शिव अवतारी गुरु जी मेरे सच दे पुजारी
गुरु जी मेरे भोले भंडारी
मेरे गुरु जी मेरे गुरु जी

गुरु जी दे चाकर बन के रहिये
गुरु को सारी खुशियाँ लईये,
गुरु जी दे दर ते आये जो भी सवाली
भर दिंदे दाता झोलियाँ खाली
गुरु जी मेरे शिव अवतारी गुरु जी मेरे सच दे पुजारी
गुरु जी मेरे भोले भंडारी
मेरे गुरु जी मेरे गुरु जी

सब श्रृष्टि दा मालिक तू है
बड़े मंदिर दा चालक तू है
तेरा रविंदर शोभा करे दिन राती
ओहने दीपक नैना बाती,
गुरु जी मेरे शिव अवतारी गुरु जी मेरे सच दे पुजारी
गुरु जी मेरे भोले भंडारी
मेरे गुरु जी मेरे गुरु जी
श्रेणी