शिर्डी वाले की मुझपर नजर हो गई

शिर्डी वाले की मुझपर नजर हो गई,
मुझको दर पे भुलाया मजा आ गया,

तूने सब कुछ किया और इतना दियां,
जबसे चरनो में आया मजा आ गया,
शिर्डी वाले की मुझपर नजर हो गई,

कुछ लोग मुझे आज मिटाने में लगे है,
साईं जी मेरी लाज बचाने में लगे है,
शिर्डी वाले की मुझपर नजर हो गई,......

उनकी गलियों का मंजीर निगाहों में है,
जो न पाया कही उनकी राहो में है,
तेरी दीवानगी का नशा हो गया,
जबसे दर्शन है पाया मजा आ गया,

कर्म तुम न करोगे तो कर्म कौन करेगा,
साईं जी मेरी झोली को फिर कौन भरे गा,
शिर्डी वाले की मुझपर नजर हो गई,

मैं हु कमली दीवानी तेरे नाम की,
दो सहारा ये दुनिया नही काम की,
मेग खुशियों का बरसा यहाँ आकाश से.
फिर अभी ने है गाया मजा आ गया,
शिर्डी वाले की मुझपर नजर हो गई,
श्रेणी