तू ही मेरी दुनिया

तर्ज - सुरमई अँखियों में

तूही मेरी दुनिया , तेरा मेरा ,
एक अनुठा रिश्ता रे
लाडले तूही मेरी जान ,
तूही तो कुल की  शान है
रहे साथ हम ओ रहे साथ
हर जनम हम  रहे साथ
तूही मेरी दुनिया तेरा मेरा...

महक उठा घर आँगन मेरा
पाँव पड़ा जब से यहाँ तेरा  जागी आशा ,
दूर हुई मेरी निराशा
पूरी हुई मेरी हर कमी , उम्मीदे ये तुझपे थमी
तूही मेरी दुनिया , तेरा मेरा ,
एक अनूठा रिश्ता रे

लाडले तूही मेरी जान  ,
तूही तो कुल की  शान है
रहे साथ हम ओ रहे साथ
हर जनम हम  रहे साथ  

युग युग जिये  राज दुलारा
तुझपे ही वारु में जीवन सारा
इतना करना , के साथ तू माँ के रहना
मिनल की कहती जुबां , दिलबर माँ की दास्तां            
तूही मेरी दुनिया , तेरा मेरा ,
एक अनूठा रिश्ता रे

लाडले तूही मेरी जान  ,
तूही तो कुल की  शान है
रहे साथ हम ओ रहे साथ
हर जनम हम  रहे साथ  

              ✍️  दिलीप सिंह सिसोदिया
                       
श्रेणी
download bhajan lyrics (108 downloads)