माई के दीवाने जबलपुर वाले

माई के दीवाने जबलपुर वाले रेवा माई के
हे मोरी माई के दीवाने जबलपुर वाले रेवा माई के

भु़ंनसारे से दर्शन,खो आवे
दर्शन को आवे और डुबकी लगावे
राम राम धुन सांझ, सकारे मोरी माई के------

निर्धन और धनवान है आवे
घाट घाट भंडारे करावे
गुंजे हर हर नर्मदे जय कारे मोरी    
माई के----------

माई नर्मदा में मेला लगत है
दूर-दूर से आवे भगत हैं
कर दर्शन से ,वारे न्यारे मोरी माई के----------

मक्ररवाहिनी है महारानी
जय जगतारण है, महारानी
कर दर्शन मां हर,जन तारे मोरी माई ने-----------

उमा घाट में होवे आरती
भक्तजनों को मां है, तारती
राजदीप मां भजन दुआरे मोरी माई के-------
है 'मोरी माई के दीवाने----
download bhajan lyrics (794 downloads)