दिल का पपीहा बोले नाम दातिए

दिल का पपीहा बोले नाम दातिए
होके मगन सुबह शाम दातिए
तेरे गुण गाउन तुझको ध्याऊँ
और दुरसरा ना कोई काम दातिए
दिल का पपीहा ....................

भक्ति समाई तेरी मेरे अंग अंग
दर्शन पाके मन हो गया मलंग
की है मैया रानी तूने मेहरबानी
दिल में हुआ तेरा मुकाम दातिए
दिल का पपीहा ....................

रंग लिया तेरे रंग में जीवन
तन मन सब तुझको अर्पण
कुछ नहीं मांगू बस यही चाहूँ
बनके रहूं तेरा गुलाम दातिए
दिल का पपीहा ..................

मेरे दिल की है आस यही
जनम जनम की है प्यास यही
माँ तेरा सहारा है मेरा गुज़ारा
चहुँ मैं ना दूजा इनाम दातिए
दिल का पपीहा ......................
download bhajan lyrics (518 downloads)