सतरंगी मैंने मैया को ओह्डाई चुनरी सतरंगी

सतरंगी सतरंगी सतरंगी सतरंगी
हे मैंने मैया को शेरावाली को मेहरावाली को ओह्डाई चुनरी सतरंगी

कोई लाया हीरे मोती कोई चांदी सोना जी
खुश खबरी कोई लाया कोई केहता कष्ट हरो जी
आये हम भी लाये हम भी
पहाड़ा वाली को ज्योता वाली को भवना वाली को ओडाई चुनरी सतरंगी

पार न कोई पायेगा इस की लीला इतनी न्यारी
देव गिरे इस के चरनो मे विपदा जब आई भारी
लाज रखती मान रखती
ओ महाकाली को आंबे रानी को अधभावनी  को ओडाई चुनरी सतरंगी

आया है संजीव भी दर पे आस लगाये ओह मैया
तारो जड़ी चुनी लाया माँ सिर पे करी इसकी छैयां,
चन वर्गी सहनु लगदी भगता नची जा धूम मचाई जा
असा मैया नु ओडाई चुनरी सतरंगी