तेरे चेत दे चाले आवा

तेरे  चेत दे चाले आवा ,जोगीया कर मेहरा
तेरे चरणी शीश निबावा ,जोगीया कर मेहरा  

सोने दी मै सिंगी लेयावा , गल विच तेरे पावा
नीके नीके पऊऐ लेयावा पैरी तेरे पावा ,जोगीया कर मेहरा

एक लेयावा झोली नाथ जी , बगल तेरी लटकावा
एक लेयावा चिमटा जोगीया  ,धूणे दे विच लावा ,जोगीया कर मेहरा  

रोट अते परशाद बनाके , तेनु भोग लगावा
एक जोगीया भगमाँ  झन्डा दरते आन चढ़ावा ,जोगीया कर मेहरा  

तनिश दक्ष दा मथा नाथ जी चरनी तेरे टिकावा  
भगता ना  सुखराज वाग मै तेरे ही गुन गावा , जोगीया कर मेहरा    

रोहित हरदिल
81467  00852  
download bhajan lyrics (43 downloads)