मैं मंगता तेरे दर माँ आज मंगा इक वरदान माँ

मैं मंगता तेरे दर माँ आज मंगा इक वरदान माँ,
कण कण दे विच तू वसदी ऐ,
ऐ मेरा वसदा रहे हिन्दुस्तान माँ,
मैं मंगता तेरे दर माँ आज मंगा इक वरदान माँ,

तू आली कुल जहां दी ऐ असि बछड़े हां नादान माँ,
आज कसम तनु तेरे दर दी माँ मेहर करदो मेहरबान माँ,
कण कण दे विच तू वसदी है मेरा वसदा रहे हिन्दुस्तान माँ ,
मैं मंगता तेरे दर माँ आज मंगा इक वरदान माँ,

पला साथी फैलाया दर तेरे मंग मंगदा ना करि निराश माँ,
चण्ड मुंड शुभ निशुंभ मारे दोना दा मिटादे निशाँ माँ,
कण कण दे विच तू वसदी ऐ मेरा वसदा रहे हिन्दुस्तान माँ ,
मैं मंगता तेरे दर माँ आज मंगा इक वरदान माँ,
download bhajan lyrics (34 downloads)