तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे

तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे,
हाथ जोड़ के द्वार तेरे ते तेरे संत पुकार दे,
तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे,

शिव शंकर डमरू खडकाये,
ब्रह्मा जी मस्ती विच गाये,
नारद नु विष्णु जी अखन देख रंग सरकार दे,
तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे,

लाल भुजवा हाथ विच फड़िया टल टनिया ओहना दिया जड़ियाँ,
सुहे सुहे गल बाने पाके आये फक्र दरबार वे,
तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे,

नन्द नंदा ने यगण रचाया माँ देवा नु आप भुलाया,
रात हुई पर माँ ना आई,
लोग ने ताने मारदे,
तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे,

चं तेरे दर दे दीवाने लै लै के अपने नजराने,
अवन तेरे ते ाँ खड़े ने खुले खुले दीदार ने,
तार दे माँ तार दे भगता न माँ तार दे,