जोगन जोगन हां जोगन जोगन

जोगन जोगन हां जोगन जोगन हां जोगन जोगन ,

लगा के बसम चंदन कपड़ा गिर्वा दारान,
करके बन गई मैं शिव की जोगन,
भक्ति में ये तन मन कर दियां शिव को अर्पण,
मैं तो बन गई शिव जी की जोगन,
जोगन जोगन हां जोगन जोगन हां जोगन जोगन ,

भांग पी लेती हु मार चिलम की धम,
जब से जोग लग गया भूल गया हु मैं सारा ये गम,
शिव से मैं शिव से तू शिव से है सारा जहां,
रिमझिम बरसी सावन भक्ति में झूमे मन मैं तो बन गई शिव की जोगन,
जोगन जोगन हां जोगन जोगन हां जोगन जोगन ,

अपनों से गम मिला शिव की भक्ति में खुशियां मिली,
दुनिया से गम मिला शिव की भक्ति में खुशियां मिली,
प्रीत शिव से लगा मन की भक्ति में कलियाँ खिली,
शिव ने जीवन दियां उनका अवतार है,
शिव की करू मैं पूजन ऐसी लगी है लगन,
मैं तो बन गई शिव जी की जोगन,
जोगन जोगन हां जोगन जोगन हां जोगन जोगन ,
श्रेणी
download bhajan lyrics (56 downloads)