बल्ले बल्ले बड़ा चा बड़े मंदिर जान दा

बल्ले बल्ले बड़ा चा बड़े मंदिर जान दा,
गुरु जी दा जन्म दिन आया चा बड़े मंदिर जान दा,

बारी बरसी खटन गया सी खट के ले आनदी मिठाई,
त्यारियां कर लो जी आ गई सत जुलाई,
राति आर लगदा पार लगदा मेरा दिल डुगरी वाले दे दरबार लग दा,

संता अइयाँ इकठीयाँ होके गुरु जी तेरे द्वारे,
दर्शन करलो जी आये गुरु जी प्यारे,

बल्ले नि मेरा सतगुरु आया,
शगन मनावा भेटा गावा नच नच भंगड़े पावा,
मेरा सतगुरु आया,

चन वरगा तेरा मुखड़ा गुरु जी मिश्री वरगे बोल,
सत जुलाई दा दिन है बड़ा अनमोल,.

ज्योत जगा के करा आरती भोले के अवतारी
नैन बिछावा शीश निभाबा जावा वारि वारि
रखी चरना विच तनु विनती वारम वारि,
हैप्पी बड़े गुरु जी