मेरी साइयाँ ने फड़ ली है

मेरी साइयाँ ने फड़ ली है बाह हुन गुड्डी अम्बरा ते,
ओहने हां च मिला दिति हां,हुन गुड्डी अम्बरा ते

डोर सी मेरी कर्मा मारी फिर भी गुड्डी अम्ब्रा चाडी,
लाया तुनका ते कर दिति ता,हुन गुड्डी अम्बरा ते,

मैं साइयाँ दा साई जी ने मेरे साइयाँ लाये मन विच डेरे,
ओहने हां च मिला दिति हां,हुन गुड्डी अम्बरा ते

जदो दाता दे दर मैं आया सच्ची रूह दा दर्शन पाया,
मेरी किस्मत दिति तू बना,हुन गुड्डी अम्बरा
मेरी साइयाँ ने फड़ ली है बाह हुन गुड्डी अम्बरा ते,
श्रेणी
download bhajan lyrics (21 downloads)