मेनू दे वरदान भवानिए तेरा शृंगार करावा

मेनू दे वरदान भवानिए तेरा शृंगार करावा
तेनु लाल चूड़ियाँ पावा, लाला दे हार पहनावां

नक विच नथनी कन विच कुंडल सिर ते मुकुट सजावा
पैरा दे विच पा झांजरा नच नच तेनु मनावा
अपने हथा गोर हत्था मेहँदी मैं लावा

गल विच चोला लाल गुलाबी विच सोने दिया तारा
माथे दे  ठीके दिया चार दूर लश्कर
चुनी उते हिरे मोती, की मैं चादर चढ़ावा

शेर तेरा अलबेला दतिया जो रह जाये खाली
उस दी गर्दन दे विच पावा पटी गुंगरुआ वाली
सारी दुनिया देखे बचड़े किवें सजांदे माँवां

छपन भोग बनाके दतिया तेरा दर ते लिआवा
तू खावे मैं टूक टूक देखा तेरा शुक्र मनावा
भगता नु तू जो कुछ दिता, मैं तेरे लेखे लावा
download bhajan lyrics (80 downloads)