चल खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले

चल खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले,
तेरा बिगड़ा भाग सवर जायेगा तेरा घर खुशियों से भर जायेगा,
तेरा बन मुकदर के बाबा पल में खोले ताले,
चल खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले,

इक बार श्री श्याम के दर्शन जो श्रद्धा से करता है,
अरे मोर छड़ी वाला बाबा उसकी झोली भरता है,
चल रिंग्स से पैदल बाबा श्याम की ध्वजा उठा ले,
चल खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले,

शीश का दानी दान वीर है बाबा श्याम ये कहलाये,
अरे सब की विनती सुनता बाबा श्याम शरण में जो आये,
बस खाटू नगरी में तू ग्यारस की रात जगा ले,
चल खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले,

नीले घोड़े वाला बाबा कभी न खाली छोड़े गा,
श्याम धनि अपने भक्तो की आस कभी न तोड़े गा,
बस इक बार आके सच्चे मन से अर्जी लगा ले
आजा  खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले,

कलयुग का दातार श्याम है सब की झोली भरता है,
गिरी मना ले श्याम प्रभु को वारे न्यारे करता है,
बस खीर चूरमे का बाबा श्याम को भोग लगा ले,
आजा  खाटू नगरी में बाबा श्याम के दर्शन पा ले,