गुरु पूरब दियां सरेया नु हों वादाहियाँ जी

होण मुबारक सब नु एह जो घड़ियाँ आइयाँ जी,
गुरु पूरब दियां सरेया नु हों वादाहियाँ जी,

जग नु तारन वाला जग ते आप आया,
वाणी रूप च करने सब नु जाप लाया,
सुकिया कलियाँ देखियाँ मैं मैं फिर महकाइयां जी,
गुरु पूरब दियां सरेया नु हों वादाहियाँ जी,

ओहना लिखा मत जिह्नी है कहले नु,
पार उतारी दाता दिल दे मैले नु,
भला हॉवे सरबत दा एहो आसा लाइयाँ जी,
गुरु पूरब दियां सरेया नु हों वादाहियाँ जी,
download bhajan lyrics (193 downloads)