बाला जी म्हणे नाचन दे मन भा गया दरबार

मस्ती चढ़ गई बाला जी म्हणे देख तेरा दरबार,
बाला जी म्हणे नाचन दे मन भा गया दरबार,

नाम तेरी दी चढ़ी खुमारी,
आज नाचन की मेरी बारी,
तीन लोक में नाम तुम्हारा तू सच्ची सरकार,
बाला जी म्हणे नाचन दे मन भा गया दरबार,

मस्त मलंग आज तेरे दर आया,
बाला जी का रंग चढ़ आया,
हाथ तू मेरे सिर पे धृर दे,
दे दर्शन दीदार,
बाला जी म्हणे नाचन दे मन भा गया दरबार,

नहीं हटूगा आज हटाया बाला जी तेरा रंग चढ़ आया,
तेरे नाम की ज्योत जगाई करदे मौज बहार,
बाला जी म्हणे नाचन दे मन भा गया दरबार,

गा गा के तेरी रत्जा माला,
बांस केसरी काट दे जाला,
निग दुआरे पौंचीगा तू बन जा पालनहार,
बाला जी म्हणे नाचन दे मन भा गया दरबार,
download bhajan lyrics (97 downloads)