जगराते की रात आई ज्योत जगाये गे

जगराते की रात आई ज्योत जगाये गे,
शेरोवाली के हम दर्शन पाएंगे,
जगराते की रात आई  ज्योत जगाये गे,

नो राता आया माँ का धयान लगये गे,
माँ आंबे शेरोवाली का गुण गान गायेगे,
चरणों में माँ का जयकारा लगाए गे,
जगराते की रात आई ज्योत जगाये गे,

लाल चुनरिया अम्बे की मिल के सजाये गे,
नाच नाच के मैया को हम तो रिजाये गे,
शीश को निभा के हम दर्शन पाएंगे,
जगराते की रात आई ज्योत जगाये गे,

कंजक रूप में दुर्गा जी घर मेरे आएगी,
मेरे सारे बिगड़े काम अम्बे बनाये गई,
हलवा चने का हम भोग लगाए गे,
जगराते की रात आई ज्योत जगाये गे,

व्रत नो दिन माँ का भगतो आया है,
घर घर खुशियों की ये सौगात लाया है,
मन के मंदिर में मैया को वसाये गे,
जगराते की रात आई ज्योत जगाये गे,