भोग ला लै भोग ला लै ठाकुरा

भोग ला लै भोग ला लै ठाकुरा
   बड़ा डाडा गुस्सा धन्ने जट्ट डा ।
ओह ला लै प्रेम नाल भोग वे,
   असा तेरा पीछा नहिओ छड़ना ॥
     ओह भोग ला लै ..........

आज भगता ने ज़िद किती,
   असा घर नही जाना ए ।
तुसी खावो ते खावगे,
   नही ता भूखे मर जाना ए ॥
       ओह भोग ला लै .........

पेड़े मखना दे खा खा के,
    तू ते बिग्गड़ गयो शामा ॥
आज लस्सी ते ठोड़े दा,
    साडा मान रखी शामा ॥
         ओह भोग ला लै ......
श्रेणी
download bhajan lyrics (857 downloads)