कृष्ण बने मनिहार पहिन के साडी रे हारी

हरे रामा कृष्ण बने मनिहार, पहिनि के साडी रे हारी,

पहिनि के साडी रे हारी, पहिनि के साडी रे हारी ।
हरे रामा कृष्ण बने मनिहार, पहिनि के साडी रे हारी ॥

हरे रामाअपने महल से राधा बोलय हे रामा,
कि इधर आओ मनिहारी पहिनब हम साडी रे हारी ,

पहिनि के साडी रे हारी,पहिनि के साडी रे हारी ।
हरे रामा कृष्ण बने मनिहार, पहिनि के साडी रे हारी ॥
श्रेणी
download bhajan lyrics (72 downloads)