हरि आ जाओ एक बार

मेरा छोटा सा संसार,हरि आ जाओ एक बार ।
हरि आ जाओ हरि आ जाओ,मेरी बिगड़ी आज बना जाओ ॥
मेरा छोटा सा संसार....

लाखों को दरश दिखाया है,प्रभु मुझको क्यों तरसाया है ।
ये कैसी तुम्हारी माया है,नित बहती है असुवन धार ।।
हरि आ जाओ एक बार,मेरा छोटा सा संसार....

जब याद तुम्हारी आती है,तन मन की सुध बिसराती है ।
रह रह के मुझे तड़पाती है,अब दर्शन दो दातार ।
हरि आ जाओ एक बार,मेरा छोटा सा संसार....

स्वर- गिरधर महाराज
भाटापारा छत्तीसगढ़
मो.9300043737
download bhajan lyrics (181 downloads)