मेरे खाटू वाले बाबा के

मेरे खाटू वाले बाबा के दरबार में भक्त जो आते है,
वो मन ईशा फल पाते है और भवसागर तर जाते है,
मेरे खाटू वाले बाबा के.....

सब कष्ट दूर हो जाते है,
सब दुखो को हर लेते है,
मेरे श्याम दयालु है ऐसे तन मन को निर्बल करते है,
सच्चे मन से जो ध्याता है वो दौड़े दौड़े आते है,
वो मन ईशा फल पाते है और भवसागर तर जाते है,
मेरे खाटू वाले बाबा के.....

अगर जीवन सफल बनाना है तो श्याम की लग्न लगाले तू,
इस मन के दर्पण में प्राणी उस श्याम प्रभु को वसा ले तू,
फिर करे गए पार तेरी नैया वो माझी बनकर आते है,
वो मन ईशा फल पाते है और भवसागर तर जाते है,
मेरे खाटू वाले बाबा के.....

मतलब की है दुनिया सारी मतलब के सारे नाते है,
जब विपदा आन पड़े  कोई तब श्याम बचाने आते है,
कहता है अमन हर दुखियो को मेरे श्याम प्रभु अपनाते है,
वो मन ईशा फल पाते है और भवसागर तर जाते है,
मेरे खाटू वाले बाबा के.....
download bhajan lyrics (112 downloads)