साड़ी कुंडली च लिखिया है

साड़ी कुंडली च लिखिया है महारानिये,
असी सदा तेरे दर दे गुलाम रहा गये,
तेरे दिते होए साहा दी बनाके माला,
असी जपदे सदा ही तेरा नाम रहा गे

शुद्ध भावना ते सिदक भरोसा रख के तेरे भवना च जोत जगाया करा गे,
भावे धयाणु दी असी चरण धुल वी नही फिर वी ओहदा माँ तेनु धया करा गे,
तेरे दिते होए दोवे हाथ जोड़ के नही माँ तेरी मूर्ति नु करके परनाम रहागे,
साड़ी कुंडली च लिखिया है

एस दुनिया दे सरे रंग भूलके माँ तेरे रंग विच ज़िन्दगी नु रंग ला गये,
सहनु जदो जेहरी चीज दी लोड पाव गी पला आढ़ के माँ तेतो मांग ला गये,
महरा तेरियां ते भरिया भंगरा विचो रहंदे जग दिया नेमता तमाम रहा गये,
साड़ी कुंडली च लिखिया है .....

असी ज़िन्दगी जीन नु जिथे जावा गये तेरा निर्दोष प्यार सड़े नाल होए गा,
तू एडा सदा हर वेले ख्याल रखे गी कदे वी विंगा सदा वाल हॉवे गा,
तेरी ममता दी ठंडी शावे माँ पौंदे हर एक दुःख तो आराम रवा गये,
साड़ी कुंडली च लिखिया है
download bhajan lyrics (153 downloads)